सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार पे लगे आरोप की सच्चाई सामने आई।

By


देश में गरीब युवाओं को मुफ्त में आईआईटी की तैयारी करवाने के लिए मशहूर संस्थान ‘सुपर 30’ आजकल विवादों में घिरी हुई है। ‘सुपर 30’ पर अन्य कोचिंग संस्थानों के बच्चों को ‘सुपर 30’ का बताने का आरोप लगा है। आरोप है कि महज तीन छात्र ही 2018 के जेईई-एडवांस में क्वालीफाई कर पाए हैं। साथ ही में आनंद कुमार पर ये भी आरोप लगाया गया है की वो क्लास में सुपर-30 से जुड़े रहने पर फिल्म में भी काम करने का मौका मिलेगा ऐसा आश्वासन देते थे।


संस्थान के पुराने छात्रों का कहना है कि ‘सुपर 30’ को बदनाम करने की साजिश की जा रही है। ‘सुपर 30’ के पुराने छात्र राकेश कुमार ने फेसबुक पर एक पोस्ट में कहा कि संस्थान के 16 साल के ट्रैक रिकॉर्ड को खराब करने के लिए कुछ लोग सोशल मीडिया पर अभियान चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैंने कभी भी किसी और कोचिंग संस्थान में पढ़ाई नहीं की। मेरे नाम पर जो भी आरोप लगाए गए हैं, वे पूरी तरह गलत है।

Source


आगे पढ़िए : राजा जानी के प्रमोशन खातिर 40 गाड़ी के साथ खेसारी अइले सिवान-गोपालगंज।
संस्थान के पूर्व छात्र शुभम कुमार सिंह का भी कुछ ऐसा ही कहना है। उन्होंने कहा कि ‘सुपर 30’ के संस्थापक आनंद कुमार को बदनाम करने की साजिश है। ‘सुपर 30’ पर बन रही बायोपिक के कारण कुछ लोग परेशान हैं। मैं पूर्णकालिक ‘सुपर 30’ का छात्र रहा हूं और मैंने पूरी तैयारी वहीं से की है। मेरे नाम पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं, वह पूरी तरह बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि ‘सुपर 30′ के संस्थापक आनंद कुमार को बदनाम करने की साजिश है।’
कुछ लोगो मानना है की ये सब आने वाली फिल्म ‘सुपर 30 ‘ को फ्री में प्रोमोट करने के लिए किया जा रहा है।

You Might Like These

Leave a Comment