जापान ने बनाया चलता-फिरता मश्जिद।

By


दुनिया भर में जापान अपने तकनीक के लिए जाना जाता है। जहां एक तरफ हम अपने देश में जाति-धर्म के नाम पे लड़ रहे, हर बात के लिए सरकार को दोष देते रहते है और हर बात में आरक्षण की मांग करते रहते हैं वहीं जपान सिर्फ अपने देश और देशवासियों के विकास के लिए काम करती हैं।
2020 के ओलंपिक खेलों का आयोजन जापान की राजधानी टोक्यो में होगा। इस खेल में कई देशों के मुस्लिम खिलाड़ी और दर्शक पहुंचेंगे। उनकी सुविधा के लिए जापान ने मोबाइल मस्जिदें बनाई है। इन्हें खेल के दौरान स्टेडियम के बाहर खड़ा किया जाएगा।


मोबाइल मस्जिद को टोक्यो स्पोर्ट्स और कल्चरल इवेंट्स कंपनी ने बनाया है। कंपनी के मुताबिक, इन्हें बनाने का मकसद जापान आने वालों को घर जैसा अहसास देना है।
मोबाइल मस्जिद प्रोजेक्ट के सीईओ यसुहारु इनोउ ने कहा कि उन्हें इस तरह की मस्जिद बनाने की प्ररेणा 4 साल पहले खाड़ी देश कतर की यात्रा के दौरान मिली। इसके लिए ट्रक के पिछले हिस्से में 48 वर्गमीटर का कमरा बनाया गया। इनमें एक बार में 50 लोग नमाज अदा कर सकेंगे। इस मोबाइल मस्जिद को खेल के दौरान स्टेडियम के बाहर खड़ा किया जाएगा। इनमें हाथ धोने के लिए वॉशिंग एरिया भी है।
आगे पढ़िए : बिहार के औरंगाबाद जिले में स्थित डेढ़ लाख वर्ष पुराना उमगा सूर्य मंदिर।

You Might Like These

Leave a Comment