अब मिथिला पेंटिंग द्वारा पढ़ीं जा रमायण।

By


अक्सर रउआँ लोग भाषा के माध्यम से कौनो पुस्तक के लिखत पढ़त देखले होखेम। अइसन पहिला बार होइ कि मिथिला पेंटिंग पर पुस्तक आधारित रमायण पेट मिली। मिथिला शहर के रहे वाली सोनी झा मिथिला पेंटिंग के जरिय रमायण लिख के पूरा कहानी के सामने रखले बारी। इ पुस्तक के लोग काफी सराहत बा। इ पुस्तक के खासियत इ बा कि अनपढ़ लोग भी पेंटिंग के जरिये रामायण कथा के समझ और जान सकेला।
रामायण के प्रसंग के पेंटिंग पर उकेरने में सोनी झा के पांच साल लागल बा। रमायण के कथा के पेंटिंग कइल काफी मुश्किल काम रहे लेकिन, इ काम के पूरा करे में उनकर परिवार के पूरा सहयोग रहे।


सोनी झा के इ 481 पेज के पुस्तक के नाम चित्रमय रामकथा समग्र नाम देहल बा। चित्रमय रामकथा समग्र में 235 मिथिला पेंटिंग बनावल गइल बा। पूरा कहानी के मैथिली, अंगरेजी व हिंदी में परिचय के माध्यम से समझावल गइल बा।

You Might Like These

Leave a Comment