सर्जिकल स्ट्राइक का असली वीडियो हुआ जारी , सवाल उठाने वालो का हुआ मुँह बंद।

By

सर्जिकल स्ट्राइक का असली वीडियो हुआ जारी , सवाल उठाने वालो का हुआ मुँह बंद।


देश की देश भक्ति अगर किसी के अंदर बची है तो वो है हमारे नौजवान जो सरहद पर निःस्वार्थ भाव से देश की रक्षा के लिए अपनी जान दे देते है। लेकिन कुछ राजनितिक लोग अपने स्वार्थ के लिए शरहद पे शहीद जवानो के साथ भी राजनीती ही खेलते है। और उनके द्वारा की गयी सेवा पे सवाल उठाते है। जम्‍मू-कश्‍मीर के उड़ी सेक्‍टर में हमले के विरोध में बीते 29 सितंबर 2016 को पाकिस्तान के खिलाफ भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक कर उसे आतंकवाद के खिलाफ मुंहतोड़ जवाब दिया था। तब इसपर जमकर सियासत हुई थी।


हाल में भी इसपर कई बड़े राजनेताओं ने सवाल खड़े किए थे। बिहार में राजद नेता शिवानंद तिवारी ने बुधवार को केंद्र सरकार की जमकर आलोचना की। इस दौरान उन्‍होंने सर्जिकल स्‍ट्राइक पर भी सवाल उठाए। उन्‍होंने कहा कि हमारे सैनिक सीमा पर रोज मारे जा रहे हैं। ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ फर्जिकल स्ट्राइक साबित हुआ है। उन्‍होंने मोदी सरकार को केवल डींग हाकने वालों की सरकार बताया। अरूण शौरी, अरविंद केजरीवाल, दिग्‍विजय सिंह, पी चिदम्बरम व संजय निरूपम ने भी सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रश्नचिह्न लगाया। आलोचकों की लिस्‍ट में और भी कई शामिल हैं।

Source


लेकिन, बुधवार को जारी सर्जिकल स्‍ट्राइक के वीडियो ने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया है। दूसरी ओर बिहार की आम जनता व सीमा पर शहीद सैनिकों के परिजनों ने सर्जिकल स्‍ट्राइक को सही बताया।
उन्‍होंने कहा कि सर्जिकल स्‍ट्राइक के वीडियो से कलेजा ठंडा हो गया। उड़ी के ही शहीद भोजपुर के अशोक कुमार सिंह की विधवा संगीता देवी ने भी कहा था कि देर से ही सही, सरकार ने सही कदम उठाया।
आगे पढ़े: पटना-हटिया एक्सप्रेस की एसी बोगी में डकैती।

You Might Like These

Leave a Comment