कुम्भ 2019 : नयी टेक्नोलॉजी के जरिये श्रद्धालु लोगन के डुबकी लगावे खातिर मिली गंगा के सबसे स्वच्छ पानी।

By


प्रयागराज में चल रहल कुम्भ दुनिया के सबसे बड़ा धार्मिक जमघट के रूप में प्रसिद्ध बा। देश विदेश से श्रद्धालु लोग कुम्भ के समय में प्रयागराज में इकट्ठा होखेला लोग। भारत के ३ सबसे पवित्र नदी के संगम में स्नान करे के बहुत महत्त्व दिहल जाला। हर साल लगभग 15 करोड़ से भी अधिक लोग प्रयागराज में सिर्फ गंगा में डुबकी लगावे खातिर आवे ला लोग।
गंगा के धार्मिक, सांस्कृतिक और आर्थिक महत्व के देखते हुए, प्रशासन स्वच्छता पर विशेष रूप से ध्यान दे रहल बा। सामान्य समय में भी गंगा के सफाई अभियान जोर शोर से चल रहल बा।


लेकिन इसबार कुम्भ के ध्यान में रखते हुए और श्रद्धालु लोगन के आस्था के सम्मान खातिर प्रशासन के तरफ से विशेष तकनीक के इस्तेमाल कइल जाता। खास जिओ ट्यूब टेक्नॉलजी के इस्तेमाल गंगा के पानी स्वच्छ रखे खातिर कइल जाता। इ तकनीक के इस्तेमाल करके गंगा में गिरे वाला गन्दा पानी के पहले ट्रीट कैला जाता फिर साफ़ करके ही गंगा में छोरल जाता। गंगा में जाए वाला पानी के क्वालिटी के एंड्राइड एप के ज़रिये सेटेलाइट के द्वारा डिस्प्ले भी कइल जा रहल बा। देश में हाल ही में लांच भइल जिओ ट्यूब टेक्नॉलजी के इस्तेमाल कुंभ में पहली बार कइल जाट बा।
क्या है ये तकनीक ?

Source


इ तकनीक के जरिये बेहद कम समय और खर्चा में नालों-सीवर और टेनरियों के गन्दा पानी के तकरीबन पूरा साफ़ कर दिहल जाला। जियो कंपनी के जरिये प्रशासन संगम के आस-पास कुंभ मेला क्षेत्र में जियो ट्यूब के बहुत सारा प्लांट लगवैले बा। गंगा के पानी के क्वालिटी देखते हुए इ साबित होता की इ तकनीक बहुत कारगर सिद्ध भइल बा। और श्रद्धालु लोग बहुत खुश होइ स्वच्छ गंगा के पानी लगाके।

You Might Like These

Leave a Comment