रेलवे परिक्षा के प्रश्न ‘रेलवे बोर्ड पर काहे लिखल जाला ‘समुद्र तल से ऊंचाई’?

By


भारतीय रेल दुनिया के दूसर सबसे बड़ रेल नेटवर्क ह। और इ बार भारतीय रेलवे में भर्ती खातिर बहुत सारा लोग अप्लाई कइले बा। रेलवे भर्ती के परीक्षा में अइसन ही कुछ सवाल पूछल जाला जेकर बारे में जानल जरूरी रहेला। अइसने एगो सवाल बा कि रेलवे स्टेशन पर लागल बोर्ड के नीचे ‘समुद्र तल से ऊंचाई’ काहें लिखल जाला? एकर पीछे के वजह का बा चलीं जा हम रउआँ के बतावत बानी एकर जवाब।
हम सब लोग जानत बानी कि हमनी के पृथ्वी गोल बा। अइसे में वैज्ञानिकों के ऊँचाई मापे खातिर एगो समान तल के जरूरत बा। एही से वैज्ञानिक समुद्र तल के इ काम खातिर बेहतर मानल लोग।


‘समुद्र तल से ऊंचाई’ लिखे के फायदा इ बा कि मान ली अगर कौनों ट्रेन 150 मीटर समुद्र तल के ऊंचाई से 250 मीटर समुद्र तल के ऊंचाई पर जा रहल बा। त चालक इ बात के अंदाजा आसानी से लगा सकेला कि ट्रेन के स्पीड केतना बढ़ावे के बा। एकर अलावा एकरा मदद से ट्रेन के ऊपर लागल बिजली के तार के एक सामान ऊंचाई देवे में भी मदद मिली। जेसे बिजली के तार ट्रेन के तार से हर समय संपर्क में रहीं।
हालांकि यात्रियन के रेलवे स्टेशन पर लागल बोर्ड के नीचे ‘समुद्र तल से ऊंचाई’ से कौनो मतलब नइखे। लेकिन एकर इस्तेमाल ट्रेन चालक के खातिर कइल जाला।
आगे पढ़जिए : हाईवे पर सड़क किनारे लगे हुए माइलस्टोन के रंगो का मतलब।

You Might Like These

Leave a Comment